राहुल गाँधी का दावा सत्ता में आते ही पच्चीस करोड़ गरीबो को मिलेगा 12000/ हजार प्रतिमाह/Viral Post

कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राहुल गाँधी ने किया न्यूनतम आय स्कीम का ऐलान. राहुल गाँधी ने मीडिया कॉन्फ्रेंस के माध्यम से लोगो को इस स्कीम की जानकारी दी. इस दरमियान राहुल गाँधी ने सीधे पत्रकारों से बात की और उनके सबालो का जबाब भी दिया. क्या है इस पुरे स्कीम में ये आपके लिए भी जानना बहुत जरूरी है.


राहुल गाँधी ने बताया,देश के पच्चीस करोड़ लोगो को मिलेगा सीधे इस योजना का लाभ. राहुल गाँधी ने बताया,भारत के 20% लोग जिसकी मासिक आय न्यूनतम 12000/- प्रतिमाह से कम है,उन्हें सीधे इस योजना का लाभ मिलेगा. इस योजना के तहत भारत के पच्चीस करोड़ लोगो को गरीबी से मुक्त किया जायेगा. सलाना 72000/- सहायता राशि के रूप में सरकार सीधे इन लोगों के खाते में डालेगी. साथ ही राहुल गाँधी ने अपने विपक्ष पार्टी के तीन-तीन रुपये किसान को देने की तंज भी कासी. राहुल गाँधी ने कांग्रेस सरकार की मनरेगा योजना और किसानो की कर्ज माफ़ी की याद भी दिलाई. राहुल गाँधी ने कहा हम खोखले वादे नहीं करते,जो कहते है करते भी है.

Rahul gandhi ailan new scheme
Image use from

राहुल गाँधी की योजना में क्या गणित है,इसे समझना बहुत जरूरी है.पत्रकारों के सबाल पूछने पर राहुल गाँधी ने इस योजना के बारे में विस्तार से बताया. इस योजना का मतलब ये नहीं है के लोगों को 12000/-हजार प्रतिमाह मिलेगा. राहुल गाँधी ने बतया एक परिवार की न्यूनतम आय 12000/- हजार प्रतिमाह होनी चाहिए; अगर किसी की इससे कम आय है तो उसके बिच की पूर्ति सरकार करेगी. मतबल अगर आपके की मासिक आय 6000/- हजार प्रतिमाह है तो बाकी के 6000/- प्रतिमाह सरकार मिला कर आपको 12000/- देगी. इस तरह सरकार आपको अपना न्यूनतक आय प्राप्त करने में सहायता करेगी. राहुल गाँधी ने बताया इस योजना का लाभ देश के 20% गरीब लोगो को मिलेगा; जिसकी मासिक आय 12000/- से कम है.
वैसे तो राहुल गाँधी ने अपने बहुत से योजनाओ को गिनवाया,जिसके जरिये लोगों को फायदा पहुंचाया गया,मगर विपक्ष इसे चुनावी अजेंडा के नजर से देख रहे है. कही वास्तव में ये सिर्फ एक चुनावी घोसना तो नहीं. क्या ? कांग्रेस जो कह रही है उसे पूरा कर पायेगा. विगत चुनाव की बात याद होगी आपको,सत्ता धारी पार्टी ने कहा था अगर हमारी सरकार बनी तो सीधे लोगो के खाते में 15-15 लाख रूपये दिए जायेंगे. मगर क्या लोगो को मिला. ऐसे में कैसे मान ले की कांग्रेस ये वादा निभाएगा,चुनाव जितने के वाद. हाँ,कांग्रेस अपने विगत योजनाओ का उदाहरण भी दे रहा है,जिसे सफलता पूर्वक अंजाम दिया गया. मगर क्या ये काफी है. इस पर सोच विचार कर सही मत बनाइये और अपने विचार सांझा जरूर करे हमारे साथ.
Reactions

Post a Comment

0 Comments