Social media impact on politicians/सोशल मीडिया का राजनेताओ पर प्रभाव/Viral Post

दोस्तों आजकल जितने भी ऑनलाइन मार्केटिंग करने वाले है,चाहे कोई नेता हो अभिनेता हो या फिर कोई अन्य प्यापर करने वाला, लगभग सभी की दुकान सोशल मिडिया पर चल रही है!इस बात से इंकार नहीं कर सकता है कोई,युवाओ को लुभाने का एक अच्छा मंच बन चूका है सोशल मिडिया!इसका इस्तेमाल लगभग सभी कर रहे है!चाहे कोई फिल्म स्टार हो या फिर नेता!पर आज कल सोशल मिडिया का इस्तेमाल सबसे बेहतरीन और सबसे ज्यादा अगर कोई अपने मार्केटिंग के लिए कर रहा है,तो वो है राजनीती से जुड़े नेता!इसलिए आज हम सिर्फ नेताओ की ही बात करने वाले है!
Politician
This image use from
ऐसा लगता है जबसे जिओ ने फ्री में सिम और इसके बाद डाटा सस्ता करवाया है,आधा भारत सोशल मिडिया पर आ गया है!बस फिर क्या नेताओ को भी पता है,अगर जनता से जुड़े रहेंगे तो ही फायदे में रहेंगे!क्या आपको नहीं लगता सोशल मिडिया ऑक्सीजन बन चूका है राजनीती के लिए!
जितने बड़े नेता है उतने ही ज्यादा सक्रिय रहते है सोशल मिडिया पर!आलम तो ये है के स्वयं पी.म भी भी बेहद सक्रिय रहते है ट्विटर पर!समय-समय पर ट्विटर द्वारा अपने विचार लोगो तक पहुंचाते रहते है!अभी हल ही में कांग्रेस के नई महासचिव ने जब ट्विटर ज्वाइन किया तो हड़कंप मच गया!सिर्फ कुछ ही देर में उनके फोल्लोवेर्स 75000 से भी ज्यादा हो गए!इसके बाद बहन मायावती जी ने भी ट्विटर ज्वाइन किया है!इससे पता चलता है,आने वाले टाइम में राजनति में सोशल मिडिया की लोकप्रियता और बढ़ने वाली है!


इसका क्या कारण ये सब हो सकता है!

*सबसे पहला देश में इंटरनेट का इस्तेमाल तेजी से बढ़ रहा है!देश के पढ़े लिखे युवा इंटरनेट से जुड़े हुए है!इन युवाओ पर अपनी पकड़ बनाने के लिए सोशल मिडिया पर सक्रिय रहना जरूरी है!सोशल मिडिया पर अधिकतर पढ़े लिखे ही लोग होते है उन तक आसानी से पहुंचा जा सकता है!
*सोशल मीडिया एक ऐसा प्लेटफार्म है जहा पर अभिव्यक्ति की आजादी होती है!अतः जब कोई नेता ट्वीट करता है तो उन्हें प्रतिक्रियाएं साथ साथ मिल जाती है!अगर कोई गलत भाषा का प्रयोग करता है तो उसकी जम कर आलोचनाएं होती है!वही दूसरी तरफ अगर कोई अच्छे विचार साँझा करता है तो उसे सरहाना भी मिलती है!तो हम कह सकते है सोशल के जरिये नेताओ को जनता का मूड पता चलता रहा है!
सोशल मिडिया एक ऐसा जरिया है जिसके माध्यम से काम खर्चे में अधिक लोगो तक पंहुचा जा सकता है!दोस्तों नेताओ को एक सभा सम्मेलन करने में सुरक्षा वयवस्था से लेकर सभी कामो में लाखो रूपये खर्च करने पड़ते है!टीवी जा कर भी सिर्फ कूछ लोगों तक पहुंचा जा सकता हैं!वही सोशल मिडिया एक ऐसा माध्यम है,सिर्फ चुटकी में बिना कुछ खर्च किये एक साथ हजारो लाखो लोगो तक पहुंचा जा सकता है!साथ ही साथ लोगो की प्रतिक्रियरए भी मिल जाती है,इसलिए ये राजनीती का एक हिस्सा बन चूका है!
यही कारण है जिसके चलते अधिकतर नेता सोशल मिडिया पर आना पसंद करते है!पर ये शहरो तक सिमित है बात अगर गांव दिहात की करे तो अभी गावो में सोशल मिडिया उतनी तेजी से नहीं फ़ैल रही जितनी तेजी से शहरो में फ़ैल रहा है!शायद राजनेता जानते है आने वाले समय में सोशल मिडिया एक अहम हिस्सा होने वाल है!
परन्तु सोशल मिडिया से राजनेताओ को फायदा तो हुआ है,पर इसका साइडइफेक्ट भी है!अक्सर ऐसा देखा गया की बड़े बड़े नेता सोशल मीडिया पर अपशब्द का इस्तेमाल करते है,जिसके लिए उन्हें लोगो के आक्रोश का सामना भी करना पड़ता है!कई बार तो माफ़ी भी मांगनी पड़ती है!पर नेता तो नेता है कभी नहीं सुधरने वाले!
आपको ये आर्टिकल कैसा लगा,अगर अच्छा लगा तो फॉलो जरूर करे!
Reactions

Post a Comment

0 Comments