नो दिन और खुला है मुग़ल गार्डन आम लोगों के लिए,घूमना से पहले ये आर्टिकल जरूर पढ़े/Mughal Garden/Viral Post

मैं सोच रहा था आप लोगो को मुग़ल गार्डन के बारे में विशेष जानकारिया दू इसलिए आज छुट्टी ले कर खुद इस खूबसूरत बादियो का दीदार करने आया हूँ!मुग़ल गार्डन कैसे जाये प्रवेश शुल्क क्या है,क्या-क्या देखने के लिए खास है! यह सारी जानकारियां मै आपको दूंगा आज!


चलिए शुरू करते है!

मुग़ल गार्डन 1526 ईशा पूर्व इसे बतौर चरागाह के लिए बाबुल के द्वारा उपयोग किया जाता था!लगभग सन 17 ईशवी में जब अंग्रेजो ने कोलकाता से दिल्ली में भारत के राजधानी को विथापन करवाया उसके बाद ही अंग्रजो द्वारा इस गार्डन का डिजाइन करवाया गया और इसका नाम पड़ा मुग़ल गार्डन पड़ा!यह गार्डन कुल 13 एकर में फैला है और यहाँ हर फूल कई प्रजातिया पाई जाती है!अकेले गुलाब के लगभग 150 से भी ज्यादा प्रजातिया है!ये तो बात हो गई इतिहास की!


अब ये खुलता कब है आम जनता के लिए!

दोस्तों मुग़ल गार्डन हर वर्ष बसंत के महीने में आम लोगो के लिए खोल दिया जाता है!इस साल मुग़ल गार्डन 6 फरबरी से लेकर 9 मार्च तक आम लोगो के लिए खुला है!सोमबार बंद होता है बाकि किसी भी दिन आप सुबह 9 बजे से सायं 4 बजे तक मुग़ल गार्डन का आप दीदार कर सकते है!मुग़ल गार्डन में प्रवेश करने के लिए कोई शुल्क राशि नहीं है!पर यह आने वाले लोग इन खास बातो का विशेष ख्याल रखे!मुग़ल गार्डन में किसी भी प्रकार का सामान जैसे कैमरा.बैग.ट्राजिस्टर.खाना या कोई अन्य प्रकार का सामान ले जाना सख्त मना है!पर फ़ोन ले के आप जा सकते है!यहाँ पर प्रवेश से पूर्व दो स्तर पर सुरक्षा जाँच होती है!

यहाँ कैसे जाये!

अगर आप दिल्ली में कही भी है मुग़ल गार्डन पहुंचने का सबसे आसान तरीका है मेट्रो से सीधे दिल्ली सचिवालय मेट्रो स्टेशन गेट नो 1 पर उतरे! दिल्ली सचिवालय से मात्र 20 रूपये पर सबारी के हिसाब से लिया जाता है!आप चाहे तो अपना परसनल ऑटो भी रिजर्व कर सकते है!यहाँ पहुंच कर गेट नं 35 से प्रवेश करे!अगर आपके पास कुछ समान है तो इसे जमा करा  सकते है!


अब बारी आती है यहाँ क्या खास है आपके लिए!

यहाँ सबसे ज्यादा खास है मुग़ल गार्डन की खूबसुरति!जैसे ही आप गार्डन में प्रवेश करेंगे बहुत ही खास खुशबू का अहसास होगा आपको!ये खुशबू है यहाँ के बदियो के खूबसूरत फूलो से सजे बगीचे की!यहाँ हर फूल हर बगीचे में बकायदा हर चीज का आपको नाम लिखा मिलेगा!सबसे पहले अंदर खूबसूरत फवारा का नजारा आपको देखने के लिए मिलेगा यहाँ कई खूबसूरत फूल भी लगे है जो कुछ ऐसा दीखता है!

Mugal garden timing

इस फवारे के बाद आगे आप राष्ट्यापति भवन का पीछे हिस्सा देखेंगे जहा कई बेहतरीन फूल के गार्डन और फवारे दिख जायेंगे जो ऐसा खूबसूरत है!

Kya khas hai mugal garden me

इस तस्वीर को देखिये ये एक खूबसूरत कालीन नहीं बल्कि फूलो से बनाया गया एक बेहतरीन कला है!

Fulo ka kalin

वैसे तो यहाँ फूलो के खूबसूरत बदियो की कमी नहीं पर आगे हम आपको ले चलते है इस खूसूरत गुलाब के बगीचे में!ये मुग़ल गार्डन का दूसरा भाग है!


यहां प्रवेश करते ही आप गुलाब के बदियों में खो जायेंगे!लगभग 150 से भी अधिक प्रकार के फूल यहाँ आपका मन मोह लेगी!बस आप इसे तोड़ नहीं सकते!यहाँ दुर्लभ से दुर्लभ तरह के गुकाब देखे जा सकते है!


इसके बाद अगला और अंतिम पड़ाव होगा आपका इस गोल खूबसूरत फूल के बगीचों का जिसे देख कर जी नहीं भरेगा आपका!एक से एक खूबसूरत फूल फवारे ये नज़ारे अगर अपने अपने कमरे में कैद नहीं तो अफ़सोस करेंगे आप!


और इसके बाद वक़्त अता है विदाई का इस अंतिम बगीचे के गोल-गोल घूमते हुए आप बहार निकल जायेंगे ये अंतिम गेट है इस गार्डन का!ये प्रणव मुखर्जी पुस्तकालय है और ये गेट की तस्वीर!



ये मुग़ल गार्डन का बहार का नजारा है यहाँ पर आप आइसक्रीम.छोले भटूरे खा सकते है!पानी और बाथरूम की वयवस्था बिलकुल मुफ्त है साथ ही आरामगाह और प्राथमिक उपचार की व्यवस्था भी है!


ये जानकारी आपको कैसी लगी ये बताना मत भूलियेगा साथ हमे फॉलो और शेयर जरूर करे!
Reactions

Post a Comment

0 Comments