Population growth of India-भारत की बढ़ती हुई जनसंख्या/Viral Post

भारत में जनसंख्या बृद्धि
Dreamers Call

Population growth of India!

भारत की तेजी से बढ़ती हुई जनसंख्या विकास और भविष्य के लिए विनाशकारी हो सकती है!आजादी से ले कर आजतक भारत अपने उपलब्ध संसाधन का सही तरिके से उपयोग नहीं कर पाया है!यही कारण है आजादी के ७० साल बाद भी भारत दुनिया के विकासील देशो में आता है!जबकि चीन जैसे अधिक जनसंख्या वाले देश उचित निति के कारण तेजी से विकास कर रहा है!परन्तु भारत ने आजादी के बाद केवल भ्रष्टाचार और आवादी बढ़ाना ही सीखा है!आजदी के बक्त केवल ३४ कड़ोड़ जनसंख्या थी जो आज बढ़ कर चार गुने से भी ज्यादा हो गई है!एक अरब इक्कीस कड़ोड़ भारत की मौजूदा जनसंख्या है!अगर इसी रफ्तार से भारत की जनसंख्या बढ़ती रही तो आने वाले समय में रहने के लिए न तो जगह मिलेगी और न खाने के लिए अन्न!
अतः यह एक चेतावनी है अगर अगर इस समस्या पर अभी से ध्यान नहीं दिया गया तो ये समस्या और भी बड़ी बनती चली जाएगी!इसलिए भारत के नागरिक होने के नाते हमारी जिम्मेदारी है के हम इस विषय को ले कर देश में जागरूकता लाये!हम भारत के नागरिक है और हमारे देश की समस्य हमारी समस्या है!इसलिए हम सबको इस समस्या का हल ढूंढ़ना होगा!
यह समस्या सिर्फ देश के लिए हानिकारक नहीं बल्कि ये एक ऐसी समस्या है जिससे हर एक वयक्ति प्रभावित होता है!एक छोटा परिवार हमेशा सुखी परिवार होता है!
सबसे पहले छोटे परिवार में बच्चे का परवरिश अच्छे से होता है जिससे बच्चे का शारीरिक व् मानसिक विकास उचित हो पता है!छोटा परिवार होने के कारण उसकी शिक्षा व् तालीम भी अच्छे स्कूल व् अच्छे से हो पता हो!अच्छी शिक्षा पाने के कारण बच्चा समाज में तरक्की करता है और अपने माँ बाप और परिवार के लिए अधिक धन कमाता जबकि अच्छी शिक्षा व् ज्ञान के कमी होने के कारण अशिक्षित लोग अधिक मेहनत  कर करके भी उतना नहीं कमा पाते है!
यही नहीं एक अच्छा शिकहित नागरिक अपने देश के विकास में भी योगदान देता है!अगर भ्र्ष्टाचार मुक्त भारत बनाना है तो अवादी नहीं शिक्षा बढ़ाओ!
संतान उत्पन करने का अर्थ केवल पलना पोसना नहीं बल्कि और भी बहुत सी ज़िम्मेदारी होती है!अगर आपके बच्चे शिक्षित नहीं होंगे कमजोड़ होंगे तो मजबूत समाज का निर्माण कैसे होगा!

Our other popular articles!

 मुद्दे की बात ये है इसे धर्म से जोड़ कर नहीं देखना चाहिए हलाकि हिन्दू समाज के लोग छोटा परिवार ही पसंद करते है जबकि मुस्लिम बड़े परिवार के लिए जाने जाते हैं!कहा जाता है के बच्चे अल्लाह ताला के देन होते है और इस रोक लगाना नाज़ायज़ माना जाता है!ठीक है मैं सहमत हूँ इसका विरोध नहीं करता हूँ  परन्तु इस्लमा धर्म में ये भी साफ साफ कहा गया है के अगर आपके बच्चे ज्यादा है और उसकी परवरिश सही से नहीं हो पा रही है तो इसके लिए भी आप गुनाह के पात्र होंगे मतलब बच्चे की सही परवरिश सही तालीम माँ बाप की जिम्मेदारी बताई गई है!
अतः इसलिए परिवार छोटा हो या बड़ा शिक्षित जरूर होना चाहिए जिससे के एक अच्छे समाज का निर्माण हो सके!मै ये नहीं कहूंगा के इसी तरह जनसंख्या बढ़ती रही तो पेट्रोल खत्म हो जायेगा और पानी खत्म जायेगा मैं सिर्फ ये कहना चाहता हूँ कि अगर जनसंख्या छोटा हो और शिक्षित हो तो एक विकसित.शश्क्त.और भ्र्ष्टाचार मुक्त राष्ट्या का निर्माण किया जा सकता है!

Reactions

Post a Comment

0 Comments